शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है । Teacher's day in Hindi

क्या आप यह जानते हैं कि शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है  । अगर आप यह नहीं जानते तो यह लेख आपके लिए बहुत उपयोगी होगा । पुरे भारत में  शिशक दिवस की  धूम प्रत्येक विद्यालय में  देखी जा सकती है , शिक्षकों के सम्मान में सभी विद्यालयों में  कवितायेँ , नाटक ,कहानियां , भाषण ,  आदि कार्यकर्मों का आयोजन बड़ी धूमधाम से होता है  ।

इसलिए  हम सभी को शिक्षक दिवस क्या है , शिक्षक दिवस का महतव  था शिक्षक दिवस को मनाने की वजह की पूर्ण जानकारी होनी चाहिए 

तो दोस्तों इस लेख का शुभारम्भ करते हुए जानते हैं कि शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता  है ?  आइये शुरू करते हैं !


शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है । Teacher's day in Hindi 



शिक्षक दिवस क्या है ?

शिक्षक दिवस सभी शिक्षकों को समर्पित एक  पर्व है  जो प्रत्येक वर्ष भारत में 5 सितम्बर को मनाया जाता है 


शिक्षक दिवस कब  मनाया जाता है ?

भारत में शिक्षक दिवस 5 सितम्बर  को मनाया जाता है ।

और अंतर्राष्ट्रीय  शिक्षक दिवस   5 अक्टूबर को मनाया जाता है ।


शिक्षक दिवस क्यों मनाया जाता है ?

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे और पहले उप-राष्ट्रपति थे ।

एक बार डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन  के दोस्तों ने इच्छा प्रकट की उनका जन्मदिवस मनाया जाये  । 

इस बात पर डॉ. सर्वपल्ली राधा कृष्णन  ने कहा कि वो अपना जन्मदिवस अलग से न मनाकर , इसे शिक्षक दिवस के रूप में मनाये तो उन्हें ज्यादा गर्व की अनुभूति होगी  ।

और 1962 से ही 5 सितम्बर को शिक्षक दिवस के रूप में मान्य जाने लगा ।


डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन कौन थे ? 

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन  एक महान शिक्षक और  भारत के दूसरे राष्ट्रपति थे  वो विद्यार्थियों के  जीवन में शिक्षकों के योगदान  और भिनिका के लिए प्रसिद्ध थे । 

इसलिए वो पहले व्यक्ति थे जिन्होंने न केवल शिक्षकों के बारें में सोचा उनके जन्मदिवस को प्रतिवर्ष  "शिक्षक दिवस " के  रूप में मानाने का अनुरोध  किया ।


डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जी  की सोच !

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन  जी का मानना था  कि देश में एक  शिक्षक का दिमाग  सबसे बेहतर दिमाग होता है । डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन  का भारत कि शिक्षा निति में बहुत बड़ा योगदान है ।

डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन  पुरे विश्व को एक विद्यालय मानते थे । उनका मानना था कि शिक्षा के द्वारा ही मानव मस्तिष्क  का  सदुपयोग संभव है । और इसलिए  विश्व को एक इकाई मानकर शिक्षा का प्रबंधन करना चाहिए ।

ब्रिटैन के एडिनबरा विश्वविद्यालय में अपने दिए हुए भाषण में डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन  ने कहा था कि 

" मानव को एक होना चाहिए । मानव इतिहास का संपूर्ण लक्ष्य  , मानव जाति की मुक्ति  तभी संभव है  जब देशो की नीतियों का आधार पुरे विश्व में शांति की स्तापना का पर्यतन हो  !"


शिक्षक दिवस कैसे मनाया जाता है ?

शिक्षक दिवस को बहुत उत्साह और कृषि के साथ मनाया जाता है । विद्यार्थी शिक्षकों को बधाई देकर  इस दिन की शुरुवात करते हैं ।

इसके अतिरिक्त विद्यालयों में विद्यार्थी  विभिन्न कार्यकर्मों के द्वारा शिक्षकों को सम्मानित करते है 

उनके सम्मान में कवितायेँ , नाटक ,कहानियां , भाषण ,  आदि कार्यकर्मों में बड़े उत्साह  से भाग लेते हैं ।


शिक्षक दिवस शायरी और उल्लेख 

1 . "मेरा सबसे बड़ा खौफ आप थे , जब मै पापा से ज्यादा आपसे डरने लगा था ,

     मेरे सबसे पहले दुश्मन भी आप थे , जब  कभी मेरे दिल में  आया - सर कभी स्कूल के बाहर मिलो ,

     मेरे पढ़ने की खुवाहिश आप थे , मेरे कुछ कर-गुजरने का जज्बा आप थे ,

     मेरे सबसे करीब भी आप थे , जब 10th के रिजल्ट पे सबसे पहले मैंने आपको call किया था ,

     मेरी घर पर शिकायत लेकर आने वाले भी आप थे , और IIT में होने पर पुरे शहर को बताने वाले भी आप थे ॥ "


2 . मेरे 5 मिनट  late होने पर बहार निकलने वाले आप थे , 

      मुझे class से बहार निकालने  वाले आप थे ,

      और मुझे वक्त की अहमियत सिखाने वाले आप थे , 

3.    "मैंने दूसरों की गलतियां माफ़ करना आपसे सीखा , जब आपने मेरा क्लास में mobile उसे करना अपने      नजरअंदाज किया था "

4.  " मेरी इंजीनियरिंग की रेल गाडी  को धक्का देने वाले भी आप थे ,

       और यात्रा में हो रही कुछ असुविधा के कारण  भी आप थे  ,

       Pichai बनाने वाले भी आप थे और Kejriwal बनाने वाले भी आप थे ,

      मै आज जो हूँ , मुझे बनाने वाले आप थे "


5 .   "तुम हो तो हमारे अफ़साने हैं , हमारी कामयाबियों के किस्से हैं ,

         तुम हो तो एक अजीज मुस्कराहट  है , एक अजीज दरयादिली है !!"


6 .    "तुम जो  रोज़ रोज़ वक्त से 2 मिनट पहले आते हो , कायदे के किस्से सुनाते हो ,

          वही पुरानी गलतियों पर हमें डाटते हो , तुम इतनी मोहबत कहाँ से लेट हो !!"


विशेष :

 हम सभी अपने शिक्षकों  को उनके अनमोल कार्यों के बराबर कुछ भी नहीं लोटा सकते , पर हम उन्हें उचित सम्मान दे सकते हैं ।

अत: हमें दिल से प्रतिज्ञा करनी चाहिए कि हम शिक्षकों का सम्मान  करेंगे ।


आज आपने क्या सीखा !

मुझे उम्मीद है कि  आपको मेरा यह लेख " शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है ।   " जरूर पसंद आया होगा । मेरी हमेशा से ही यह कोशिश रहती है कि  पढ़ने वालों को "  शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है ।  " के विषय में पूरी जानकारी प्राप्त हो । 

यदि आपको इस लेख  से सम्बन्धित कोई  शंका  है या आपको लगता है कि  इस लेख में कुछ सुधार होना चाहिए  तो Comment के जरिये हमें बता सकते है ।

अगर आपको यह लेख " शिक्षक दिवस क्या है और क्यों मनाया जाता है ।  " पसंद आया या इससे कुछ सीखने को मिला है  तो इस लेख को सोशल नेटवर्किंग साइट्स जैसे फेसबुक, ट्विटर, इत्यादि पर शेयर कर सकते है 


धन्यवाद्

My Hindi World (MHW).

सब कुछ हिंदी में ।

----------------------

यह भी पढ़े 

शिक्षक दिवस पर निबंध ( 100, 300  शब्द ) 

---------------------------------

Disclaimer

डिस्क्लेमर : - यह लेख  केवल एक निजी विचार है । ऊपर दिए गए लेख में  प्रस्तुत की गई सुचना और तथ्यों की सटीकता और सम्पूर्णता के लिए MyHindiWorld (MHW) उत्तरदायी नहीं है । 

आप अपने विचार हमें भेज सकते है : - Contact Us . 

-----------


टिप्पणी पोस्ट करें

0 टिप्पणियां